National Seminar

(12 & 13 November 2017)

On the occasion of Pandit Deen Dayal Upadhyaya’s Birth centenary year two day National Level Seminar was successfully organized on 12th and 13th November 2017 at Ganga Global Institute of Teacher Education, Ramzanpur, Begusarai. The first Chairman of the NCTE and former Director of NCERT Padmashri Prof. Dr. J. s. Rajput was the chief guest. The topic of the national seminar was “The cultural aspects of change in education policy”. Other dignitaries of the seminar were   Ex-officer IB, Govt. of India and senior Fellow of Vivekananda International Foundation Delhi, Shri R.N.P. Singh, Aryabhatta Knowledge University Registrar Dr. Ajay Pratap and other renowned academicians, thinkers and research scholars of the country participated and presented their ideas, articles and research papers.

पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी वर्ष के मौके 12 और13 नवम्बर को बेगूसराय गंगा ग्लोबल इंस्टीट्‌यूट ऑफ टीचर एडुकेशन, रमज़ानपुर में दो दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार का सफलतापूर्वक आयोजन किया गया जिसमें एनसीटीई के संस्थापक अध्यक्ष और एनसीइआरटी के पूर्व निदेशक पद्‌मश्री प्रो. डॉ. जे. एस. राजपूत मुख्यअतिथि थे। “शिक्षा नीति में परिवर्तन के सांस्कृतिक पक्ष” पर आयोजित इस सेमिनार में आई.बी. के पूर्व अधिकारी एवं विवेकानंद अन्तर्राष्ट्रीय फाऊन्डेशन दिल्ली के सिनियर फेलो श्री आर. एन.पी. सिंह, आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार डॉ.अजय प्रताप तथा देश के ख्याति प्राप्त शिक्षाविद, चिन्तक, विचारक और शोधार्थी शामिल हुए और अपने विचार, आलेख और शोध-पत्र प्रस्तुत किये।

 

Download Seminar Brochure